Crime ! देवर और भाभी के बीच अवैध संबंध लोगों की दिलचस्पी का विषय बना

छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में देवर और भाभी के बीच अवैध संबंध का मामला लोगों की दिलचस्पी का विषय बन गया। दरअसल, मंगलवार को पब्लिक हियरिंग में पहुंची एक महिला ने खुद पर हो रही ज्यादती की कहानी अफसरों के सामने रखा और बताया कि उसके पति और भाभी के प्रेम संबंध के चलते उसे हैरेस होना पड़ रहा है। पति ने न सिर्फ मारपीट, बल्कि दो बार गला दबाकर जान लेने की भी कोशिश की।

- महिला के मुताबिक वह शादी के बाद से ही पति और भाभी की हैरेसमेंट का शिकार हो रही है।
- उसने बताया कि घर से निकाले जाने की शिकायत के बाद भी पुलिस से मदद नहीं मिलने पर वह कलेक्ट्रेट में न्याय की उम्मीद लेकर पहुंची है।
- 26 वर्षीय इस विक्टिम का नाम दुर्गेश्वरी देवांगन है। वह कांकेर के कोरर की रहने वाली है।
- उसने बताया, फरवरी 2015 में सामाजिक रीति-रिवाज के साथ उसकी शादी अन्नपूर्णापारा के रहने वाले दिगंबर देवांगन से हुई थी।
- ससुराल आने पर उसे पता चला कि पति और उसकी भाभी के बीच अवैध संबंध है। पति अधिकांश समय अपने भाभी के पास ही रहता था।
- विवाहिता के अनुसार, एक बार वह घर से बाहर गई थी। घर लौटी तो भाभी के कमरे में जाने पर देखा कि पति और भाभी आपत्तिजनक हालत में थे। एेसा एक बार नहीं, कई बार हुआ।

भाभी ने कह दिया वह देवर को नहीं छोड़ेगी चाहे जो करो लो

- विक्टिम के मुताबिक विरोध करने पर उल्टा भाभी ने कह दिया कि चाहे जो कर लो, वह उसके पति को नहीं छोड़ेगी।
- वहीं, पति भी उल्टे पत्नी से मारपीट करने लगा। विक्टिम ने बताया एक बार जब वह कमरे में सोई थी, तब पति ने गला दबाकर मारने की कोशिश की।
- दूसरी बार तकिए से उसका मुंह दबाकर मारने की कोशिश, लेकिन वह किसी तरह से बच गई।
पति की बेरुखी से भूखों मरने की नौबत

- विक्टिम ने बताया कि विवाद बढ़ने पर पति ने उसे राशन लाकर देना बंद कर दिया और घर में उसे भूखे मरने की नौबत आई, तो वह पास के घर में काम कर पेट पालने लगी।
- उसने बताया कि पति हमेशा घर से दहेज नहीं लाने और रकम लाने के लिए भी हैरेस करने लगा। इसके बाद वह जिस मकान में रह रही थी, गर्मी में वहां की बिजली भी काट दी।
- वह बगैर बिजली के 20 दिन तक किसी तरह मकान में रही।
अपनी जान बचाने सुबह खोलती थी घर का दरवाजा
- पति के जान लेने की कोशिश से विक्टिम इतना डर गई थी कि वह पति के घर से बाहर जाते ही दरवाजा बंद कर लेती थी।
- विक्टिम ने बताया कि सुबह उजाला होने और आसपास के किराएदारों के जागने के बाद ही वह कमरे का दरवाजा खोलती थी।
- इस मामले में विक्टिम की शिकायत पर अप्रैल 2016 में कांकेर थाने में पति और भाभी के खिलाफ दहेज प्रताड़ना और घरेलू हिंसा का मामला दर्ज किया गया है।
- विक्टिम ने अफसरों के सामने यह भी आरोप लगाया कि पुलिस एफआईआर दर्ज करने के बाद आगे की कार्रवाई नहीं कर रही है।